पटना. बिहार में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा सभी जिलों के डीएम को गाइडलाइन जारी कर दिया गया है. कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच निर्वाचन आयोग ने बिहार में होने वाले इस चुनाव को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी है.

इसके साथ ही यह माना जा रहा है कि किसी भी वक्त बिहार में पंचायत चुनाव को लेकर चुनाव आयोग की ओर से शेड्यूल की घोषणा की जा सकती है. बताते चलें कि बिहार में अगले कुछ ही महीने में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव होने हैं.सबसे अहम गाइडलाइन वोटिंग और वोटों की गिनती को लेकर है. चुनाव आयोग ने इस बार मतदान के लिए जहां सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक का वक्त निर्धारित किया है, तो वहीं मतगणना का काम भी सुबह 8 बजे से ही शुरू किया जाएगा.

आयोग ने प्रत्याशियों के नामांकन को लेकर भी शुल्क का निर्धारित कर दिया गया है. ग्राम कचहरी पंच व पंचायत सदस्य प्रत्याशी का नामांकन शुल्क – 250 रुपये (महिला प्रत्याशी, एससी,एसटी व पिछड़े वर्गों के प्रत्याशी के लिए 125 रुपये), मुखिया व कचहरी सरपंच प्रत्याशी- 1000 रुपये (महिला प्रत्याशी, एससी,एसटी व पिछड़े वर्गों के प्रत्याशी का 500 रुपये), जिला परिषद सदस्य प्रत्याशी को- 2000 रुपये (महिला प्रत्याशी, एससी,एसटी व पिछड़े वर्गों के प्रत्याशी का 1000 रुपये) नामांकन शुल्क के रूप में देने होंगे

चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग ने गाइडलाइन में कहा है कि बिहार पंचायत निर्वाचन नियमावली 2006 के नियम 36 के अंतर्गत निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जिला निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा नाम निर्देशन से संबंधित सूचना संबंधित जिला परिषद, पंचायत समिति तथा ग्राम पंचायत के कार्यालय में प्रकाशित की जाएगी. इसमें नाम निर्देशन की अंतिम तारीख, समय तथा स्थान नामनिर्देशन की समीक्षा के लिए तिथि ,समय तथा नाम वापस लेने की तारीख का उल्लेख होगा.

बिहार में होने वाले इस चुनाव को लेकर अभी से ही माहौल बनने लगा है और भावी मुखिया, सरपंच समेत अन्य पदों के लिए कई चेहरे अपनी दावेदारी ठोक रहे हैं. चुनाव आयोग ने निर्णय लिया है कि राज्यपाल द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार पंचायतों एवं ग्राम कचहरी के चुनाव संपन्न कराए जाएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here