नए साल के मौके पर नेपाल में जाकर मधुशाला के पास लाइन में खड़े बिहार के लोग।

इंडो-नेपाल सीमा सील रहने के बावजूद नए साल का सुरूर छाया
अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे भेरयारी की मधुशाला में दिखी भीड़

जोगबनी (Goodmorning news desk)। नववर्ष का उत्साह व नशा युवाओं की टोली पर सिर चढ़ कर बोलता दिखा, जहां सीमा सील होने के कारण लोग नेपाल में बड़े पैमाने पर जाम छलकाने के लिए पहुंचते थे, वही सीमा सील होने के कारण बडे़ पैमाने पर युवाओं की एक टोली नेपाल की वादियों में जाने से वंचित हो गई। वही भारत व नेपाल के बीच खुली सीमा का फायदा उठाकर काफी लोग सीमा से बिल्कुल सटे इलाके में शराब पीने पहुंच गए। यहां मदिरा सेवन करने वालों को ध्यान में रखते हुए बनाये गए मदिरालय में नववर्ष मनाने सैकड़ो युवाओं की टोली दिखी।
हालांकि जैसे ही सांझ ढली कुछ युवकों को नेपाल पुलिस का कोपभाजन भी होना पड़ा। कारण साफ था बिना हेलमेट पहने बिना परमिशन भारतीय नंबर की दर्जनों गाड़ियां नेपाल हाते में दिखी। लेकिन अगर जिद नव वर्ष पर नेपाल में जाम छलकाने का हो तो सब जायज है। वह भी जब खुली सीमा में न कहीं पुलिस का पहरा हो और न ही सीमा सुरक्षा बल का।

दूसरे प्रदेशों में भी पहुंचे सीमावर्ती जिलों के लोग
उधर बिहार के सीमावर्ती जिलों के काफी लोग झारखंड व उत्तर प्रदेश की सीमा पार कर नए साल का जश्न मनाने के लिए पहुंचे। कारण वही…बिहार में शराबबंदी। नए साल पर जश्न के दौरान शराब के उपयोग को रोकने के लिए पुलिस ने शराबियों पर सख्ती दिखाई तो कई लोगों ने राज्य से बाहर जाकर नए साल का जश्न मनाने की योजना बनाई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here