बिहार में अब आर पार की लड़ाई के मूड में कोचिंग संचालक

0
612
WhatsApp Image 2020 08 02 at 11.53.25 - बिहार में अब आर पार की लड़ाई के मूड में कोचिंग संचालक

पटना.  लॉकडाउन को लेकर बिहार में पिछले पांच माह से कोचिंग क्लास के संचालकों का गुस्सा रविवार को फूट पड़ा। आक्रोशित कोचिंग संचालकों ने सरकार से दो टूक कहा है कि सरकार जैसे दूसरे सेक्टर को मदद कर रही है उसी प्रकार शिक्षण संस्थानों ने जुड़े लोगों की भी मदद करें, अन्य अब हम आर पार की लड़ाई करने को मजबूर हो जायेंगे। अपने आनंदोलन को गति देने के लिए कोचिंग संचालकों ने पहली बार पटना में कोचिंग एसोसिएशन ऑफ बिहार का गठन किया है।

चार माह में करीब 15 सौ के आस पास कोचिंग संचालक इसमें जुड़ गए हैं। संगठन की रविवार को कंकड़बाग स्थित अपने प्रदेश कार्यालय में पहली बैठक हुई। इस बैठक में संस्थान से जुड़े लोगों ने कहा कि सरकार कहती है कि बच्चों को ऑन लाइन क्लास करायें। लेकिन, ऑन लाइन क्लास के लिए आवश्यक संसाधन तक नहीं है। आधा बिहार बाढ़ में डूबा है और जो बचा है उसमें रहने वाले वाले अधिकांश बच्चों के पास स्मार्ट फोन नहीं है।

वीडियो: सुनो सरकार..बचा लो बिहार:Condition of Coaching industry in lockdown,Feel Pain of a private teacher

संस्थान के सदस्य सुधीर कुमार ने कहा कि इधर, शिक्षकों के पास भी उतना पैसा नहीं है कि वे स्मार्ट क्लास बनवा सकें। एक स्मार्ट क्लास बनाने में करीब तीन लाख रुपए खर्च होते हैं। दो जून की रोटी के लिए संघर्ष कर रहे कोचिंग के टीचर इतनी बड़ी राशि फिलाहल निवेश करने की स्थिति में नहीं है। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि हमें सरकार कोई मदद दे नहीं रही है और बैंक लोन देने को तैयार नहीं है। ऐसे में हमारे लिए आर -पार की लड़ाई ही एकमात्र साधन है। इस अवसर पर सुधीर कुमार, सुधीर कुमार सिंह, एम.के.पांडे, नीरज कुमार, जे. के. नारायण रणधीर कुमार गांधी, समरेंद्र जी, कौशलेंद्र जी,राम बाबू ने भी अपने अपने विचार रखे।

Leave a reply