गुडमॉर्निंग न्यूज डेस्क । पैट कमिंस और जॉश हेजलवुड ने मिलकर ऐडिलेड में भारतीय क्रिकेट टीम को अपनी गेंदों पर नचा डाला। पहली पारी के आधार पर अच्‍छी लीड हासिल करने वाली टीम इंडिया चाहती थी कि एक बड़ा स्‍कोर खड़ा कर ऑस्‍ट्रेलिया के लिए सभी दरवाजे बंद कर दिए जाएं। तीसरे दिन जब खेल शुरू हुआ तो पैट कमिंस और जॉश हेजलवुड की जोड़ी ने मोर्चा संभाला। एक के बाद विकेट गिरने का ऐसा सिलसिला शुरू हुआ जो थामे नहीं थमा। हेजलवुड और कमिंस की गेंदों के आगे एक-एक बार भारतीय बल्‍लेबाज सरेंडर करते चले गए। टीम इंडिया ने टेस्‍ट इतिहास में अपना सबसे कम स्‍कोर बनाकर ही दम लिया। 36 रन के नुकसान पर 9 विकेट। मोहम्‍मद शमी रिटायर्ड हर्ट हुए। इससे पहले तक, टेस्‍ट क्रिकेट में भारत का सबसे कम स्‍कोर 42 रन रहा था जो इंग्‍लैंड के खिलाफ जून 1974 में बना था। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम इंडिया सबसे सस्‍ते में 1947 में आउट हुई थी तब 58 के स्‍कोर पर पूरी टीम पवेलियन में थी।

कमिंस और हेजलवुड ने उड़ाए टीम इंडिया के होश
पिछले दौरे की तरह इस बार भी पैट कमिंस और जॉश हेजलवुड की जोड़ी ने भारतीय बल्‍लेबाजों की नाक में दम कर दिया। पिछली बार तो थोड़ी राहत थी, इस बार तो ऐडिलेड की पिच पर दोनों की गेंदें आग उगल रही थीं। हेजलवुड ने पांच और कमिंस ने दूसरी पारी में चार विकेट झटके।

इससे घटिया प्रदर्शन कभी नहीं रहा
ऐडिलेट टेस्‍ट की दूसरी पारी में भारत ने 19 रन पर ही 6 विकेट गंवा दिए थे। इससे पहले ऑस्‍ट्रेलिया में 5 विकेट खोकर इतना कम स्‍कोर कभी नहीं बना था। पिछला रेकॉर्ड 1947 का था जब भारत ने यहां पर अपना पहला टेस्‍ट खेला था। तब 23 के टोटल पर भारत के पांच विकेट गिर चुके थे।

नाइट वॉचमैन बनकर आए थे बुमराह
पृथ्‍वी शॉ के दोबारा सस्‍ते में आउट होने के बाद विराट कोहली ने शुक्रवार को जसप्रीत बुमराह को नाइट वॉचमैन बनाकर भेजा था। कल बुमराह ने अपना रोल बखूबी निभाया था। मगर आज जब खेल शुरू हुआ तो पैट कमिंस की एक गेंद पर वह उन्‍हें ही कैच थमा बैठे। तब भारत का स्‍कोर 15 रन था।

कमिंस ने ही ढहाई भारत की ‘दीवार
टीम के सबसे भरोसेमंद बल्‍लेबाज चेतेश्‍वर पुजारा दूसरी पारी में पहली जैसा प्रदर्शन नहीं दोहरा सके। जब कमिंस ने टिम पेन के हाथों पुजारा को कैच कराया, तब उनका खाता भी नहीं खुला था।

‘बैडलक’ ने नहीं छोड़ा रहाणे का साथ
अजिंक्‍य रहाणे पहली पारी में विराट कोहली को रनआउट कराके खासी आलोचना झेल चुके थे। दूसरी पारी में हेजलवुड की एक गेंद पर बल्‍ला अड़ाकर उन्‍होंने फिर गलती कर दी। रहाणे डक का शिकार हुए।

विराट कोहली भी निराश होकर लौटे पवेलियन
तो अब स्‍कोर था 15 रन और भारत के 5 विकेट गिर चुके थे। कप्‍तान विराट कोहली क्रीज पर थे। पैट कमिंस की गेंदें आग उगल रही थीं और एक गेंद ने एज ले लिया। ग्रीन ने कोई गलती नहीं की। कोहली निराश थे। टीम के 6 विकेट सिर्फ 19 रन पर गिर चुके थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here