बवाल कर रहे लोगों को शांत कराने जाते पुलिस पदाधिकारी।

बन्द रहा पूरा बाजार, शोक में शहर, मृतक के घर लगा लोगों का तांता।
प्रभारी एसपी ने की परिजन से मुलाकात ली घटना की जानकारी

जोगबनी (Goodmorning news desk)। फारबिसगंज शहर के चर्चित दवा व्यवसायी जनता मेडिकल हॉल के प्रोपराइटर पवन केडिया की सोमवार गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। सोमवार की रात वे अपनी दवा दुकान को बंद कर भाई ललित केडिया के साथ स्कूटी से स्टेट बैंक के समीप स्थित अपने निवास स्थान जा रहे थे कि घर के समीप ही गली के अंदर अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी । घटना से आक्रोशित दवा कारोबारियों सहित अन्य बाजार के व्यवसायियों ने अपने प्रतिष्ठान को बंद रख कर विरोध जताया है। लोगों में स्थानीय पुलिस के खिलाफ आक्रोश साफ देखा जा रहा था जबकि घटना के 24 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथों कुछ भी नहीं लग पाया है ।
घटना के बाद मृतक व्यवसायी के घर राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों का तांता लगा हुआ था। मृतक परिवार को संवेदना देने पहुंचे पूर्व बिद्यायक जाकिर अनवर बैराग ने कहा कि जिस तरीके से अपराधी बेलागाम हो रहे हैं, ऐसे में सुशासन की पोल खोल कर रख दी है। पुलिस जल्द से जल्द अपराधी की गिरफ्तारी करे।

अन्तिम शव यात्रा में शामिल हुए सांसद
मृतक केडिया की अन्तिम यात्रा में अररिया सांसद प्रदीप कुमार सिंह शामिल हुए व परिवार को सांत्वना दी। सांसद सिंह ने मुक्ति धाम घाट पर मीडिया के द्वारा जिले में बढ़ रही अपराध की घटना को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि जिले में हुई इस तरह की आपराधिक घटना से वह भी हतप्रभ है। सांसद ने कहा कि उन्होंने पुलिस महानिदेशक एसके सिंघल से बात की है। जल्द ही अपराधी पुलिस गिरफ्त में होंगे । जरूरत पड़ी तो सदन में इस मामले को रखेंगे।

श्री राम सेना ने कराया बाजार बंद ,जलाए टायर
घटना के विरोध में श्री राम सेना ने बाजार के मुख्य चौक चौराहे पर टायर जला कर प्रशासन के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए सड़क को अवरुद्ध कर दिया। शहर के मुख्य चौराहा सुभाष चौक, पटेल चौक, पोस्टऑफिस चौक पर टायर जला कर श्री राम सेना के अध्यक्ष प्रदीप देव के नेतृत्व में भवेश कश्यप, सोनू भगत, किशु ठाकुर, मुन्ना गामी, शैलेश जैन, ललित विश्वास, अरुण सिंह, संतोष गुप्ता आशुतोष परासर, गौरव राठौर, छोटु पांडेय, अभिषेक यादव सहित दर्जनों कार्यकर्ता ने प्रशासन के विरुद्ध जाम कर नारेबाजी करते हुए अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।
उधर शहर में विधि ब्यवस्था को लेकर कई थाने के पुलिस को फारबिसगंज बाजार में लगाया गया था तो शहर के बिधि ब्यवस्था की कमान खुद डीएसपी गौतम कुमार संभाले हुए थे । जिला मुख्यालय डीएसपी सह प्रभारी एसपी श्रीकांत सिंह ने परिजनों से मिल कर घटना की जानकरी लिया है लेकिन कुछ स्पष्ठ नही हो पाया है कि घटना क्यो घटी पुलिस कई बिंदुओं पर जांच कर रही है।

सड़क पर आग जलाकर प्रदर्शन करते व्यवसायी।


मिलनसार व्यक्ति थे केडिया
काफी ही मिलनसार किस्म के व्यक्तियों में से एक थे केडिया। चेहरे पर मुस्कान के साथ हमेशा मरीजों के दर्द को दवा से दूर करने का प्रयास करते नजर आते थे। इनकी हत्या पर पूरा शहर गमगीन दिख रहा था। वही उनके जानने वालों की मानें तो किसी भी प्रकार कोई दबाव या तनाव में नजर नहीं आ रहे थे, फिर अपराधियों के द्वारा हत्या किये जाने से सभी हतप्रभ है।


शव यात्रा में उमड़ा जनसैलाब
मृतक व्यवसायी की शव यात्रा में पूरा शहर उमड़ पड़ा था। हजारों की संख्या में सभी समुदाय के लोग नम आंखों से अंतिम विदाई में शामिल हुए सभी की जुबान पर एक ही बात थी। पुलिस की स्थिलता का परिणाम ही है कि ऐसी घटना घटी है ।

मृत दवा व्यवसायी की शवयात्रा में शामिल लोग।


पुलिस की नहीं है गश्ती, अपराधी चुस्त-पुलिस सुस्त
फारबिसगंज बाजार में पुलिस की गश्त नहीं के बराबर है। वहीं अपराधियों के आगे पुलिस सुस्त नजर आती है जबकि लगतार अनुमंडल के विभिन्न स्थानों से हथियार की बरामदगी अपराधियों की गिरफ्तारी होने से भी न ही पुलिस चौकस है न ही पुलिस का खुफिया तंत्र। ऐसे में सवाल उठता है कि आमजन किसके भरोसे रहे जबकि पूर्व में फारबिसगंज थाने के दारोगा की सर्विस रिवाल्वर घर से गायब हो गई थी। वही सोमवार को ही चार हथियार के साथ अपराधी की गिरफ्तारी हुई व संध्या में वारदात को अंजाम देना पुलिस के लिए खुली चुनौती है।


घटना के वक़्त एक ही बाइक पर सवार थे तीनों अपराधी
बताया जाता है कि तीन अपराधी एक ही बाइक पर सवार थे । गोली की आवाज सुनने पर घटना के बाद स्थानीय कपड़ा व्यवसायी कुक्कू झावक सहित अन्य लोगों ने खून से लथपथ दवा व्यवसायी को अनुमंडल अस्पताल पहुंचाया। जहां इलाज के क्रम में चिकित्सक ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

परिवार को सांत्वना देने जाते जनप्रतिनिधि।


परिजनों से मिलने पहुंचे दर्जनों लोग
मृतक दवा व्यवसायी केडिया के निवास पर भोला शंकर तिवारी, ,धीरज पासवान , फारबिसगंज नगर परिषद के उप मुख्य पार्षद किशनदेव भगत,समाज सेवी पूनम पांडिया, भाजपा नेत्री वीणा देवी, मुख्य पार्षद प्रतिनिधि अनूप,जयसवाल, जदयू नेता मूलचंद गोलछा,दिलीप मेहता,सुरेंद्र कनोजिया, मनोज देव,अनिल गुप्ता,विजय प्रकाश, अनुपम सागर,किशन शर्मा ,प्रवीण कुमार, इज़हार आलम, छोटू बेद, विनोद सरवांगी, पवन मिश्रा,निहाल डालमिया,पुक्की झावक ,निखिल डागा,अशोक विश्वास, गोपाल अग्रवाल सहित अन्य मौजूद थे।

घटना निंदनीय जल्द हो गिरफ्तारी

बिहार विकास युवा मोर्चा के अध्यक्ष सह आरटीआई एक्टिविस्ट प्रसेनजीत कृष्ण ने कहा की दवा व्यवसायी पवन केडिया की निर्मम हत्या बहुत ही दुःखद घटना है और प्रशासन की बहुत बड़ी लापरवाही है. प्रशासन इस मामले का जल्द उद्भेदन कर आरोपी को गिरफ्तार करे।मोर्चाध्यक्ष कृष्ण ने कहा कि मृदुभाषी और सरल स्वभाव के धनी रहे पवन भाई की हत्या हो जाना अविश्वसनीय है। आखिर इतने सरल स्वभाव के इंसान से किसी को क्या दिक़्क़त हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here