गुडमॉर्निंग न्यूज डेस्क । भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को मेलबर्न में खेले गए बॉक्सिंग-डे टेस्ट में आठ विकेट से शिकस्त दी। इसी के साथ भारत ने 4 टेस्ट मैचों की सीरीज 1-1 से बराबरी की। टीम इंडिया पिछले छह साल से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बॉक्सिंग-डे टेस्ट में हारी नहीं है। पिछली बार दिसम्बर 2018 को मेलबर्न टेस्ट में ही भारत ने मेजबान को 137 रन से हराया था। जबकि दिसंबर 2014 में इसी मैदान पर बॉक्सिंग-डे टेस्ट ड्रॉ रहा था।

42 साल में पहली बार ऑस्ट्रेलिया की सबसे धीमी घरेलू पारी
मैच में टॉस जीतकर ऑस्ट्रेलिया टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 195 रन बनाए थे। इसके बाद टीम इंडिया ने पहली पारी में 326 रन बनाते हुए 131 रन की बढ़त ली थी। जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 103.1 ओवर खेलकर 1.94 के रनरेट से 200 रन बनाए और भारत को 70 रन का टारगेट दिया। 1978 के बाद से ऑस्ट्रेलिया की घरेलू मैदान पर 80 से ज्यादा ओवर खेलकर यह अब तक की सबसे धीमी पारी रही।

लगातार दो ओवर में भारत को दो झटके
लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। टीम ने 19 रन पर ही दो विकेट गंवा दिए। ओपनर मयंक अग्रवाल 5 और चेतेश्वर पुजारा 3 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। ऑस्ट्रेलियन तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क ने पारी के चौथे ओवर में मयंक को विकेटकीपर टिम पेन के हाथों कैच आउट कराया। इसके अगले ओवर की पहली ही बॉल पर पैट कमिंस की बॉल पर पुजारा कैमरून ग्रीन के हाथों कैच आउट हुए। टीम इंडिया ने 2 विकेट गंवाकर 70 रन बनाते हुए मैच जीत लिया। कप्तान अजिंक्य रहाणे और ओपनर शुभमन गिल आखिर तक डटे रहे और टीम को जीत दिलाई। शुभमन ने नाबाद 35 और रहाणे ने 27 रन की पारी खेली।

कोई ऑस्ट्रेलियाई प्लेयर दूसरी पारी में फिफ्टी नहीं लगा सका
दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया के लिए कैमरून ग्रीन ने 146 बॉल पर सबसे ज्यादा 45 और ओपनर मैथ्यू वेड ने 137 बॉल पर 40 रन की पारी खेली। इनके अलावा मार्नस लाबुशेन ने 28 और पैट कमिंस ने 22 रन बनाए। भारत के लिए मोहम्मद सिराज ने सबसे ज्यादा 3 विकेट लिए। इनके अलावा जसप्रीत बुमराह, रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा को 2-2 सफलता मिली। चोटिल उमेश यादव ने एक विकेट लिया।

अश्विन सबसे ज्यादा लेफ्ट हैंडर बैट्समैन को आउट करने वाले टेस्ट बॉलर
भारतीय स्पिनर अश्विन टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा 192 लेफ्ट हैंडर बैट्समैन को आउट करने वाले बॉलर बन गए हैं। इस मामले में उन्होंने श्रीलंका के पूर्व स्पिनर मुथैया मुरलीधरन को पीछे छोड़ दिया। भारतीयों में दूसरे नंबर पर अनिल कुंबले हैं। उन्होंने 167 बाएं हाथ के बल्लेबाजों का शिकार किया।

वॉर्न ने कही थी ये बात
एडिलेड टेस्ट हार के बाद शेन वॉर्न ने कहा था कि एडीलेड टेस्ट में शर्मनाक हार से भारतीय क्रिकेट टीम अभी भी सहमी हुई होगी और ऑस्ट्रेलियाई टीम बॉक्सिंग डे टेस्ट में उसकी धज्जियां उड़ा देगी। वॉर्न ने ‘फॉक्स क्रिकेट’ से कहा था, ‘मुझे लगता है कि ऑस्ट्रेलियाई टीम उनकी धज्जियां उड़ा देगी।’ वॉर्न का कहना था कि भारतीय बल्लेबाजों को दोष देने की बजाय ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाजों की तारीफ की जानी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘मैं ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को श्रेय दूंगा, जिन्होंने इतनी उम्दा गेंदबाजी की। चारों गेंदबाज और कैमरन ग्रीन ने मिलकर शानदार प्रदर्शन किया। ये महान गेंदबाज बनते जा रहे हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here