नई दिल्ली. दिल्ली में हुई लोजपा सांसदों की बैठक में पार्टी के सभी सांसदों ने नीतीश सरकार का विरोध किया है. पार्टी सूत्रों से जो जानकारी मिल रही है उसके अनुसार पार्टी के सारे नेताओं ने जदयू सांसद ललन सिंह के खिलाफ निंदा प्रस्ताव भी पास किया है.

ललन सिंह के कालीदास वाले बयान की निंदा लोजपा सांसदों ने किया. सीएम नीतीश के खिलाफ लोजपा सांसद काफी आक्रोशित दिखे. इनलोगों ने नीतीश सरकार के कामों का विरोध किया. सांसदों की माने तो बिहार में जितना काम होना चाहिए था वह नहीं हुआ है. बैठक में यह भी बात उठी की बिहार में बीजेपी को बड़े भाई की भूमिका में रहना चाहिए.

लोजपा सांसदों की बैठक में पार्टी के दो पूर्व सांसद सूरजभान सिंह और काली पांडे ने हिस्सा लिया था. पूर्व सांसद काली पांडेय ने यहां तक कहा कि जेडीयू के प्रत्येक प्रत्याशी के खिलाफ लोजपा को अपना उम्मीदवार मैदान में उतारना चाहिए.

दलितों को 3 डिसमील जमीन देने के मुद्दे पर पार्टी सांसदों ने कहा कि नीतीश सरकार ने इस वादों को भी नहीं पूरा किया है. लोकतांत्रिक व्यवस्था में कार्यकर्ता, नेता और मंत्री को कोई अहमियत दी गयी. अफसरशाही पूरा तरह से हावी है. जिससे नेताओं का बातों को कोई सुनने वाला नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here