बेगूसराय, बेगूसराय जिले के सदर अनुमंडल क्षेत्र की रहने वाली मनीषा ने 481 अंक प्राप्त कर पूरे राज्य में मैट्रिक के नतीजों में चौथा स्थान हासिल कर अपने गांव एवं जिले का मान बढ़ाया है। शानदार अंक पाने वाली मनीषा आगे की पढाई पूरी करने के बाद आईएएस (IAS) अफसर बनकर राष्ट्र की सेवा करने की चाह रखती है।

पिता किसान हैं
मामूली से किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाली मनीषा पढ़ाई और मां के काम में साथ-साथ मदद करती थी। सदर प्रखंड के राजौरा हाई स्कूल की छात्रा मनीषा कुमारी ने परीक्षा से पहले मेहनत से खूब पढ़ाई की और मैट्रिक की परीक्षा में 481अंक के साथ चतुर्थ स्थान प्राप्त किया। मनीषा कुमारी के पिता विनोद राय पेशे से किसान हैं साथ ही साथ मेहनत मजदूरी कर अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं।


लेकिन सरकार द्वारा बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ संकल्प को भी उन्होंने अपना संकल्प बनाया और अपनी पुत्री मनीषा की शिक्षा दीक्षा में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं होने दी। आज इसी का परिणाम है कि मनीषा ने चतुर्थ स्थान हासिल कर गांव, विद्यालय एवं जिले का नाम रौशन किया है।

मां के साथ सिलाई कढ़ाई में भी बटाती है हाथ
मनीषा कुमारी अपनी पढ़ाई के साथ-साथ अपनी मां का सिलाई कढ़ाई में भी हाथ बटाती है। दरअसल मनीषा कुमारी की मां अनुपम देवी अपने परिवार की माली हालत को देखते हुए घर में ही सिलाई कढ़ाई का भी काम करती है तथा आर्थिक संकट दूर करने में अपने पति का हाथ बटाती है। मां की परेशानियों को देखते हुए मनीषा कुमारी ने शुरू से ही पढ़ाई के साथ-साथ मां के काम में भी हाथ बटाया और अपने परिवार की आर्थिक उन्नति के लिए मेहनत करती रही है।

घर में ही रहकर की तैयारी
मनीषा की मां अनुपम देवी बताती हैं कि मनीषा शुरू से ही पढ़ाई में अच्छी थी और शांत स्वभाव की होने की वजह से परिवार एवं गांव के लोगों की लाडली है। इस कोरोना काल के दौरान जब स्कूल और कोचिंग संस्थान बंद हो गए थे तब मनीषा कुमारी ने घर में ही रह कर परीक्षा की पूरी लगन से तैयारी की। आज उसका ही परिणाम है की मनीषा को यह मुकाम हासिल हुआ। मनीषा आगे चलकर IAS अफसर बनकर देश की सेवा करने की इच्छा रखती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here