बेगूसराय, तेघड़ा बाजार में 28 अगस्त को दिनदहाड़े हुए सोना लूट मामले में पुलिस को सोमवार को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने लूटे गए सोना से करीब नौ सौ ग्राम अधिक सोना के साथ 11 अपराधियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अपराधियों ने कई और अन्य लूट कांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार किया है।

पत्नी रखा करती थी लूट का सोना
पुलिस ने कहा कि लूटे गया सोना अपराधियों की पत्नी के पास रहा करता था। पुलिस ने उनको भी गिरफ्तार कर लिया है। बेगूसराय के एसपी विकास कुमार ने सोमवार की शाम पत्रकारों से बात करते हुए इस बात की जानकारी दी। बताते चलें कि 28 अगस्त को दिनदहाड़े अपराधियों ने तेघड़ा के राजलक्ष्मी ज्वेलर्स में लूटपाट किया था। घटना के तुरंत बाद एसपी ने सदर डीएसपी एवं तेघड़ा डीएसपी के नेतृत्व में एक विशेष टीम बनाया था। लगातार दो दिन तक छापेमारी और वैज्ञानिक तरीके से पूरे मामले की जांच कर पुलिस ने अपराधियों को लूटे गए एक करोड़ के आभूषण के साथ गिरफ्तार कर लिया।
व्यवसायी ने लूट के बाद दो किलो 611 ग्राम सोना लूटे जाने की बात कहा था।

लेकिन पुलिस ने अपराधियों के पास से तीन किलो 489 ग्राम सोना का आभूषण बरामद किया है। इसके अलावा अपराधियों के पास से पुलिस एक किलो 150 ग्राम किलोग्राम चांदी के आभूषण, एक पिस्टल, पांच देसी कट्टा, 15 गोली, 11 मोबाइल, एक बोलेरो, एक मोटरसाइकिल बरामद किया है। अपराधियों ने 16 अगस्त को बीहट बाजार के राजेश ज्वेलर्स में हुई लूट में भी अपनी संलिप्तता स्वीकार किया है। जिसके आधार पर लूटा गया चांदी का सभी आभूषण पुलिस ने बरामद कर लिया।

इसके अलावा इन लोगों ने तीन अन्य लूट की बात भी स्वीकार किया है। एसपी ने बताया कि सभी आभूषण सिमरिया बिन्द टोली निवासी रामगति उर्फ लरहा की पत्नी निशा कुमारी के पास से बरामद किया गया है। लरहा ने निशा कुमारी के साथ प्रेम विवाह किया था तथा उसका गैंग लूटपाट कर उसी के पास सामान जमा करते थे। इस दौरान सिमरिया बिंद टोली निवासी रामगति उर्फ लरहा, राजा कुमार, दुलार कुमार, चकिया निवासी सोनू कुमार, रचियाही निवासी हैप्पी कुमार एवं मिंटू कुमार, उलाव निवासी चंदन कुमार, तेघड़ा मुसहरी निवासी गुलशन कुमार उर्फ प्रिंस, बारो निवासी मंजेश कुमार तथा लखीसराय के मेदनी चौकी निवासी विशेश्वर कुमार को गिरफ्तार किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here