एक हफ्ते से जारी पटना नगर निगम (Patna Municipal Corporation) के सफाईकर्मियों की हड़ताल मंगलवार की रात खत्म हो गई. पटना हाईकोर्ट (Patna High Court) में इस मुद्दे पर सुनवाई के बाद सफाईकर्मी हड़ताल खत्म कर काम पर वापस लौट आए हैं. कोर्ट ने सरकार को सफाईकर्मियों के साथ उनकी मांगों को लेकर बैठक करने और आठ सप्ताह के अंदर हलफनामा (Affidavit) दायर करने का निर्देश दिया है.

बताते चलें कि पटना नगर निगम के छह हजार सफाईकर्मी अपनी 12 सूत्री मांगों को लेकर सात दिन से हड़ताल पर थे. पिछले 10 वर्षों में यह पहला मौका है जब सफाईकर्मियों की हड़ताल इतने दिन तक चली.

नगर निगम के सफाईकर्मी रात से ही काम पर लगे
नगर निगम में हड़ताल के कारण राजधानी पटना में चारों तरफ गंदगी का अंबार लग गया था. अकेले पटना शहर में 6,000 टन से ज्यादा कचरा सड़कों पर बिखरा पड़ा है जो बीमारियों के फैलने का सबसे बड़ा खतरा बना हुआ है. पिछले सात दिन से साफ-सफाई नहीं होने के कारण सड़कों पर बदबू के साथ बीमारियों ने घर करना शुरू कर दिया था. मगर मंगलवार को हड़ताल खत्म होते ही नगर निगम के सभी अंचलों में रात से ही सफाई का काम शुरू कर दिया गया.


एक तरफ जहां बड़ी संख्या में आउटसोर्सिंग सफाईकर्मी काम पर लगाए गए हैं. वहीं, हड़ताल पर रहे दैनिक मजदूर भी काम पर वापस लौट आए हैं. पटना के सभी अंचलों में बड़े-बड़े हाईवा (ट्रक) और टिपर के जरिए कचरा उठाने का काम शुरू किया जा रहा है. साथ ही सड़कों पर ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव किया जा रहा है ताकि बीमारियों से बचा जा सके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here