मोतिहारी. कोरोना वायरस संक्रमण के खतरनाक दौर में जो चिकित्सा पद्धति एवं मेडिसिन सबसे अधिक उभर कर सामने आया वह हर्बल मेडिसिन का रहा जो आयुर्वेद से जुडा है। प्रधानमंत्री ने कई बार अपने संबोधन में आयुर्वेद दवा के सेवन पर बल दिया था। उनके आह्वान के बाद देश में आयुर्वेद के प्रति लोगों का रुझान तेजी से बढ़ा है और जो भी स्वदेशी कंपनियां देश में काम कर रही थी वे एक बार नये सिरे से अपने पूर्ण जवानी में आ गई है। पूरे देश में उनका नेटवर्क भी तेजी से फैल रहा है। लोगों की मांग भी काफी बढ़ी है।

इन कम्पनियो द्वारा हर्बल मेडिसिन या उत्पादन के जो भी सामग्री है सभी को देश के लोग पसंद कर रहे हैं। इसी क्रम में प्रधानमंत्री का  आत्मनिर्भर भारत का जो नारा है उसे सफल करने मे स्वदेशी कम्पनियों ने कमर कस लिया है। नगर के बेलबनवा स्थित बिहार प्रदेश भाजपा महिला सेल की उपाध्यक्ष परल पाठक के आवास पर किरण हर्बल सेंटर खोला गया जिसका उद्घाटन पूर्व केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह ने फीता काटकर किया। उन्होंने कंपनी से जुड़े तमाम अधिकारियों से चार चार के ग्रुप मे बुलाकर भेंट की और विस्तृत जानकारी ली।

उन्होंने कहा कि स्वदेशी अभियान को सफल बनाने में आप लोग आधुनिक तरीका अपनावे और पूरे देश में इसकी जो मांग बढ रही है उसे पुरा करें। उन्होंने कंपनी के अधिकारियों के साथ बारी-बारी से डिस्टेंस मेंटेन करते हुए मुलाकात की। कार्यक्रम आयोजक बिहार प्रदेश भजपा महिला सेल की उपाध्यक्ष पुतुल पाठक ने आगत अतिथियों का स्वागत किया उन्होंने पूर्व मंत्री को बुके देकर के अभिवादन किया। किरण हर्बल केंद्र के डायरेक्टर डॉक्टर एसएन पांडेय ने सभी का स्वागत किया। मौके पर महिला सेल की जोनल इंचार्ज संगीता चित्रांश, भाजपा जिला महिला सेल की अध्यक्ष श्रीमती मिश्रा, अधिवक्ता शिवपूजन राऊत एवं उगम पाण्डेय कॉलेज के सचिव किशोर पांडेय, पर्यावरण विद केशव कृष्ण समेत काफी महिलाएं उपस्थित थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here