पटना. महात्मा गांधी सेतु के समानांतर बनने वाले 14.5 किमी. लंबे फोरलेन पुल का शिलान्यास 21 सितंबर को होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इस शिलान्यास कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करेंगे.

इस कार्यक्रम को लेकर प्रशासनिक तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई हैं. गांधी सेतु के पश्चिम दिशा में बनने वाले इस के निर्माण में 2926 करोड़ रुपए लागत का प्रोजेक्ट तैयार हो गया है.

पुल निर्माण की जिम्मेवारी कॉट्रेक्टर एसपी सिंगला को दी गई है. पथ निर्माण विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री दिल्ली से इसका शिलान्यास करेंगे. कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित कई केन्द्रीय मंत्री और बिहार सरकार के मंत्री ऑनलाइन मौजूद रहेंगे. कार्यक्रम की सारी तैयारियां लगभग पूरी कर ली गई है।. मंगलवार को विभागीय पदाधिकारी स्थल निरीक्षण का काम भी करेंगे.

मालूम हो कि एनएच-19 पर पटना और हाजीपुर को जोड़ने वाले महात्मा गांधी सेतु के समानांतर गंगा नदी पर फोरलेन पुल की मंजूरी मिलने के बाद पुल निर्माण की दिशा में कार्य बहुत तेजी से शुरू किया गया था। जिसके बाद शिलान्यास का कार्यक्रम तय किया गया है.

तीन साल में काम पूरा करने का लक्ष्य
तीन साल में पुल के निर्माण कार्य को पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. पुल की कुल लागत में निर्माण लागत 2926 करोड़ रुपए होगी. कुल लागत में 79.75 करोड़ रुपये भूमि अधिग्रहण, पुनर्वास व व्यवस्थापन पर खर्च किए जाएंगे। निर्माण इंजीनियरिंग प्रोक्यूरमेंट कंस्ट्रक्शन (एपीसी) मोड में किया जाएगा। पूरे प्रोजेक्ट की लंबाई 14.5 किलोमीटर होगी, जिसमें पुल व एप्रोच रोड शामिल है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here